Warning: mysqli_set_charset() expects parameter 1 to be mysqli, null given in /home/dralok20/public_html/config.php on line 12
Dr Alok Kumar

ब्लॉग



छद्म युद्ध...
... उसके बाद युक्ति पूर्ण छद्म युद्ध आता है, जिससे कुछ भी सुलभ है। छद्म युद्ध, चालाकी को निश्चिंतता में और दुर्भाग्य को लाभ में बदलने में युक्त हो। अतः चुनना लम्बा और घुमावदार रास्ता, इसके बाद श[Read more]...

कब लड़ना है और कब नहीं ?
एक अच्छा लड़ाकू अपने को पहले पराजय की संभावना से दूर करता है, और फिर उस अवसर का इंतजार करता है जब वह शत्रु को पराजित सके। अपने को पराजय से सुरक्षित करना हमारे खुद के हाथ में है, परंतु शत्रु अपने [Read more]...

वह पांच कारण जिनके होने पर ही युद्ध करने के लि
युद्ध की कला राज्य के लिए महत्वपूर्ण है। यह जीवन और मृत्यु का प्रश्न है? मार्ग है या तो सुरक्षा का या नष्ट होने का। अतः यह विषय है उस जानकारी का जिसे किसी भी स्थिति में उपेक्षित नहीं किया जाना [Read more]...

सन तुज की दी आर्ट आँफ वार को पढ़नी चाहिए अर्था
सन तुज की दी आर्ट आँफ वार (युद्ध की कला (चीनी भाषा में; 孫子兵法, अंग्रेजी में; The Art of War, एक सैन्य प्रबंध है जिसका उपयोग वर्तमान में भी व्यापार और प्रबंधन, और युद्ध की युक्तियों के रुप में होता है। सन तुज [Read more]...

लडाई की तैयारी अर्थात आधार शिला रखना
युद्ध की कला राज्य के लिए महत्वपूर्ण है। यह जीवन और मृत्यु का प्रश्न है? मार्ग है या तो सुरक्षा का या नष्ट होने का। अतः यह विषय है उस जानकारी का जिसे किसी भी स्थिति में उपेक्षित नहीं किया जाना च[Read more]...

हमला कैसे करें अर्थात आग से आक्रमण
यहाँ पाँच तरीके हैं आग से आक्रमण करने के। पहला शत्रु सैनिकों को पड़ाव में ही मारना; दूसरा भंडारों को जला देना; तीसरा सामान ढोने के साधनों को जला देना; चौथा अस्त्रागार और हथियारों को नष्ट कर देन[Read more]...