Warning: mysqli_set_charset() expects parameter 1 to be mysqli, null given in /home/dralok20/public_html/config.php on line 12
Dr Alok Kumar

ब्लॉग



अध्याय-3 शिक्षा में कलाएं
ऐसे, तब, मैंने कहा, हमारे ब्रह्मविद्या के सिद्धांत होने चाहिए-- कुछ क़िस्से सुनाने चाहिए, और अन्य को अपने अनुयायियों को नहीं बताना चाहिए जोकि युवा होने जा रहे हैं, यदि हम चाहते हैं कि वे हमारे दे[Read more]...

अध्याय -2 व्यक्ति, राज्य और शिक्षा
इन शब्दों के साथ मैं सोच रहा था कि मैंने चर्चा का अंत कर दिया; परंतु सत्य यह था कि यह तो वास्तव में चर्चा की शुरुआत थी. ग्लकोन् के लिए जो कि झगड़ालू क़िस्म के व्यक्ति हैं, थ्रस्य्मचुस् कि सेवा-नि[Read more]...

अध्याय -1 संपत्ति, न्याय, संयम, और इसका विपरीत
...कल मैं ऐरिस्टोन के पुत्र ग्लकोन् के साथ पाईरस् गया था, जिससे वहां की देवी को हम अपनी प्रार्थना अर्पित कर सकें; और इसलिए भी क्योंकि मैं देखना चाहता था कि वे किस प्रकार से अपने उत्सव को मनाते है[Read more]...

प्लेटों की दी रिपब्लिक का हिंदी अनुवाद
मानव स्वभाव को तार्किक आधार पर जानने के लिए निश्चित ही प्लेटों की महान रचना दी रिपब्लिक एक मनन करने योग्य पुस्तक है. कुछ प्रश्न जो कि हम अपने से हमेशा पूछते रहते हैं उसका जवाब निश्चित ही केवल प[Read more]...